शीघ्रपतन किन 13 कारणों से होता है

शीघ्रपतन किन 13 कारणों से होता है

शीघ्रपतन के लक्षण –

सम्भोग के वक्त, समय से पहले वीर्य का
जल्दी निकल जाना शीघ्रपतन है। जब शिश्न प्रवेश (एंट्री)के साथ ही “एक्सिट” होने लगे या फिर, स्त्री अभी चरम पर न हो और व्यक्ति का स्खलन हो जाए तो यह शीघ्रपतन (Premature Ejaculation) है।

शीघ्रपतन के साइड इफ़ेक्ट

@ ऐसे में स्वयम से लाचार वअसंतुष्टि होना
@ ग्लानि, हीन-भावना,
@ नकारात्मक सोच या
@ अपने-आपको कोसना, कमजोर समझना,
@ शीघ्रपतन का स्थाई इलाज आयुर्वेद
में ही  मुमकिन है।

 क्यों होता है– शीघ्रपतन 

अधेड़ अवस्था में बढती आयु की वजह से जब शिश्न इन्द्रीयों की नसें कमजोर व ढीली हो जाने से शिश्न में ढ़ीलापन आना एक स्वाभाविक प्रक्रिया है। इस कारण शिथिलता आने से वीर्य को रोके रखने की शक्ति क्षीण हो जाती है। ऐसी खराब स्थिति को आयुर्वेद ग्रंथों में शीघ्रपतन (Premature ejaculation) कहा जाता है। डर, भय, असुरक्षा, छुपकर सेक्स, शारीरिक व मानसिक परेशानी भी इस समस्या का एक बहुत बड़ी वजह हो सकता है। शीघ्रपतन एवं यौन अक्षमता के कुछ कारणों में तनाव, मनोवैज्ञानिक मुद्दों, हृदय रोग या अन्य चिकित्सीय स्थितियों, नशीली दवाओं के उपयोग, शराब का सेवन शामिल हो सकता है।

शीघ्र गिर जाने को कहते हैं –शीघ्रपतन!

सेक्स के मामले में यह शब्द वीर्य के स्खलन यानि जल्दी डिसचार्ज के लिए प्रयोग किया जाता है। किसी भी आदमी का उसकी इच्छा के विरुद्ध उसका वीर्य अचानक स्खलित (डिस्चार्ज) हो जाए, अथवा किसी महिला साथी से सहवास के वक्त संभोग शुरू करते ही वीर्यपात हो जाए और पुरुष डिस्चार्ज होना रोकना चाहकर भी वीर्यपतन को रोक न सके, या फिर सेक्स के दौरान अधबीच में अचानक ही स्त्री को संतुष्टि व कामतृप्ति प्राप्त होने से पहले ही पुरुष का वीर्य शीघ्र ही स्खलित हो जाना या निकल जाना, इसे शीघ्रपतन होना कहते हैं। 

केवल पुुरुषों की बीमारी है शीघ्रपतन

इस योन रोग का संबंध महिला से नहीं होता। केवल आदमी से ही होता है और यह बीमारी मात्र पुरुष को ही होती है।
शीघ्रपतन का कोई निश्चित मापदण्ड नहीं है। यह प्रत्येक व्यक्ति की मानसिक एवं शारीरिक स्थिति पर निर्भर होता है।

सेक्सुअल वीकनेस के मुख्य “13” कारण _

[१] खान-पान की आदत का ख़राब होना,
[२] उचित मात्रा में समय पर भोजन न करना
[३] विटामिन्स की कमी होना,
[४] पाचन तन्त्र कमजोर होना।
[५] लगातार पेट खराब रहना।
[६] लम्बे समय तक कब्ज रहना।
[७] खून व भूख की कमी
[८] हारमोंस का बहुत अधिक प्रभावित होना
[९] हमारे शरीर में  वीर्य का कम मात्रा में बनना,
[१०] शिश्न की नसों का सिकुड़ जाना
[११] दिमाग में खुश्की का बढ़ जाना
[१२] हमेशा चिन्ता, तनाव का बने रहना

100 फीसदी हर्बल चिकित्सा

■ अमृतम आयुर्वेदिक शक्तिवर्द्धक ओषधियाँ
सभी मोसम में तथा किसी भी उम्र के शीघ्रपतन रोगी के लिए अनमोल तोहफा है।
■ आयुर्वेद की इस दवा को एक महीने तक लगातार  सेवन करने से कमजोर नसों का ढ़ीलापन दिनोदिन दूर होने लगता है।
■ हर तरह की सेक्सुअल कमजोरी हमेशा हमेशा के लिए आपका पीछा छोड़ देती है।
■ सेक्स करने के आनंद को बढ़ाने में बहुत ज्यादा मददगार है।
■ यदि पूरी तरह से इस रोग को जड़ से ठीक करना है, तो थोड़ा धैर्य के साथ नियम तथा नियमित रूप इसका उपयोग करें और
■ आंतरिक शक्ति व सेक्सुअल पॉवर बढ़ाने के लिये 3 महीने का पूरा कोर्स जरूर लेवें, क्योंकि यह बीमारी 10-5 दिन दवाई खाने से दूर नहीं होती।
■ असाध्य नपुंसकता, सेक्सुअल कमजोरी, नामर्दी, छोटापन, शीघ्रपतन तथा इंद्री की नसों के ढीलेपन को जड़ से नष्ट करने के लिए एक हर्बल माल्ट  के बारे में जानने हेतु क्लिक करें।

B Feral Gold Malt
ORDER B. FERAL GOLD MALT NOW

काम (सेक्स) के बारे में काम की बातें :- –
काम (सेक्स)  के बारे में एक ऐसी साहित्यिक और वैज्ञानिक जानकारी जो आज तक किसी ने पढ़ी नहीं होगी।

इस लिंक को क्लिक करें

https://www.amrutam.co.in/sexandmythology/

सेक्स के बारे में 27 अनजाने रोचक तथ्य

सेक्स (SEX )को लेकर पूरी दुनिया में आये दिन कई तरह के शोध-सर्वेक्षण किए जाते हैं, जिनके परिणाम भी काफी रोचक होते हैं। ऐसे सर्वेक्षणों का उद्देश्य स्वास्थ्य व सेहत की दृष्टि से सेक्स विषय की जानकारी बढ़ाना होता है। कुछ महत्वपूर्ण रोचक ज्ञान आप भी जाने –

1】एक बार की सेक्स क्रिया में पुरुषों का जो वीर्य (Semen) निकलता है उसमें 30 से 40 करोड़ तक शुक्राणु (स्पर्म) होते हैं।

2】वीर्य बैंक में -196.9 डिग्री सेल्सीयस के तापमान पर वीर्य को रखा जाता है।

3】नियमित सेक्स करने से तनाव और सिरदर्द भी कम या दूर हो जाता है।

4】पूरे विश्व में लगभग 26 फीसदी लोग हमेशा  सेक्स के बारे में सोच रहे होते हैं।

5】यौन क्रिया यानि Sexual activity की चरम सीमा के समय स्त्री-पुरूष दोनो के हृदय की धड़कन 140 प्रति मिनट तक पहुँच जाती है।

6】एक युवा पुरूष के अंडकोष (Testicles) में इतने शुक्राणु होते है कि इन्हें 404 मीटर तक फैला के रखा जा सकता है।

7】एक छोटे से कैप्सूल में मनुष्य के इतने शुक्राणु आ सकते है जिनसे वर्तमान पृथ्वी पर मौजुद मनुष्यों से ज्यादा जनसंख्या बनाई जा सकती है।

8】सेक्स के समय स्त्रियों के स्तन और योनि के अलावा नाक का भीतरी हिस्सा भी फूल जाता है।

9】सेक्स करते समय पुरुष की दाढ़ी आम अवस्था के मुकाबले ज्यादा तेज़ी से बढ़ती है।

10】एक बार सेक्स करने से पुरूष की 100 कैलोरी खपत हो जाती है।

11】सम्भोग के दौरान के पुरूषों को स्त्रियों के मुकाबले ज्यादा पसीना आता है। स्त्रियों की शारीरिक संरचना में शरीर से निकलने वाले पसीने को कंट्रोल करने का गुण होता है।

12】भारत में सबसे ज्यादा 30 प्रतीशत पुरूष शीघ्र पतन के शिकार है। जबकि दुनिया में आंकड़ा 15 से 20 फीसदी तक है।

13】भारत में लगभग 65 से 70 फीसदी लोगों का वीर्यपतन 3 मिनट से भी कम समय में हो जाता है। यह स्थिति बहुत ज्यादा खराब है।

14】 दुनिया में औसतन एक दिन में लगभग 100 से 110 करोड़ लोग सेक्स करते हैं।

15】अच्छी और गहरी नींद के लिए सेक्स(काम) सबसे अच्छी दवा है। सेक्स ऐसी ओषधि है, जो अन्य नींदवाली दूसरी दवाओं की तुलना में 10 गुना ज़्यादा कारगर है। जो महिलाएं रोमांटिक उपन्यास नग्न किताबे पढ़ती है, या फिर फूहड़ चलचित्र देखती हैं, वो ऐसी पुस्तकें ना पढ़ने वाली महिलाओं के मुकाबले काम का ज़्यादा आनंद उठाती हैं।

16】अगर आपकी सेक्स में रूचि कम हो गई है,तो Exercise जरूर करें,

साथ ही 100 फीसदी आयुर्वेदिक दवा
बी फेराल गोल्ड माल्ट
का एक से तीन माह तक लगातार सेवन अवश्य करें आपमें सेक्स की इच्छा दोबारा जाग जाएगी।

17】सेक्स वेज्ञानिको ने दावा किया है कि हमेशा खुश और स्वस्थ्य रहने के लिए नियमित कामवासना बुझाना जरूरी है। हफ्ते में दो या तीन बार सेक्स करने वाले लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत ज्यादा बढ जाती है। ऐसे ष्ट्री-पुरुषों के चेहरे पर एक ओज दिखाई देता है, वे औरों की अपेक्षा ज्यादा खूबसूरत दिखते हैं।

27】एक सर्वे के अनुसार 60 प्रतिशत वैवाहिक पुरुष चाहते हैं सेक्स के लिए स्त्री पहले पहल करे। अगर कोई औरत अपने पति के साथ ऐसा करती है, तो वो बहुत प्रसन्न होता है।

【28】सेक्स शोधकर्ताओं के मुताबिक जिन महिलाओं को कामतृप्ति या सेक्स संतुष्टि नहीं मिलती, उन्हें सफेद पानी, लिकोरिया, व्हाइट डिस्चार्ज, आदि समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0
Amrutam Basket
Your cart is empty.
X