गुलकंद के आयुर्वेदिक फायदे | Ayurvedic Benefits of Gulkand

अगर मैं आप से पुछू कि क्या आपको मीठा खाना पंसद है तो आपका जबाब होगा हाँ। क्योकि मीठा खाने से खाने का स्वाद तो बढता ही है और मुहँ से बोल भी मीठें निकलते है और तो आज हम कुछ मीठी बात करेगें। अगर आप से पूँछा जाये तो कि आपको मीठे में क्या पंसद है तो कोई कहेगा कि मुझे चॉकलेट पंसद है। कोई कहेगा कि मुझे मिठाई पंसद है तो कोई कहेगा कि मुझे फल पसंद है। तो देखा जाये मीठा किसी भी रूप में हो पसंद आता ही है। तो आज हम मीठे में गुलकंद की बात करेगें। जो स्वाद में ही नही ब्लकि स्वास्थ्य की दृश्टि से भी बहुत उपयोगी है।

गुलकंद जिसे गुलाब की पत्तिया से बना मुरब्बा भी कहा जाता है। यह गुलाब की पत्तियों और मिश्री से बनाया जाता है। जो स्वाद में तो स्वादिश्ट होता है। और स्वास्थय के लिये भी फायदेमंद है।

Amrutam Malts Gulkand

गुलकंद के फायदे

गुलकंद में पोषक तत्व विटामिन्स ए, सी, और बी पाया जाता है। इसमें बहुत मात्रा में एन्टीऑक्सीडेंटस पाया जाता है। जो शरारी की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर थकान को कम करता है। यह एक अच्छा एन्टीबैक्टिरीयल है जो त्वचा संबंधित समस्याओं में बहुत फायदेमंद है। और त्वचा को डिहाइड्रेट करता है। खाना खाने के बाद गुलकंद को खाने से यह खाना पचाने में मदद करता है। और पाचन संबधित समस्याओं को दुर करता है। भोजन करने के बाद गुलकंद एक अच्छा माउथफेशनर भी है।

  1.  नारी सौन्दर्य माल्ट का सेवन 1-2 चम्मच दिन में 2 बार दूध या जल से लेने से स्त्री रोग, खून व भूख की कमी चिड़चिड़ापन, भय-भ्रम, चक्कर, सिर, कमर दर्द, उदर रोग के लिये कारागर है।
  2. चाइल्ड केयर माल्ट 1/2- 1 चम्मच दिन में 2 बार दूध से बच्चो को होने वाली समस्या जैसे-भूख की कमी,दूध उलटना चिड़चिड़ापन  सूखारोग, दुर्बलता सर्दी, खाँसी, जुकाम गले में  खराश, निमोनिया, कृमि विकार ज्वर के कारण होने वाली कमजोरी एवं दाँत निकलते समय उत्पन्न विकार दूर करने में  सहायक। बच्चो को स्वस्थ तन्दुरस्त बनाने में सहायक होता है।
  3. आर्थोकी गोल्ड माल्ट 2 चम्मच पानी या दूध के साथ सुबह-शाम लेन से सभी प्रकार के वात विकार पीठ गर्दन तथा जोडों में लाभकारी। चिकनगुनिया जनित व्यवाधियों में हितकारी विकार ग्रस्त वात वाहिनियों, नाड़ियों को मुलायम तथा हड्डिया मजबूत बनाने में सहायक होते है |
  4. नारी सौन्दर्य तेल लडकियो, विवाहित – अविवाहित महिलाओं को माहवारी समय पर न होना, बालो का झड़ना आदि रोग दूर करने में सहायक है।
  5. गुलंकद की तासीर ठंडी होती है। जो हमारे शरीर को ठंडक देता है। इसका सेवन करने से अल्सर और छालो में आराम मिलता है।
  6. जिन लोगो के शरीर मे या हाथ-पैरो में जलन की समस्या होती है उनको इनका सेवन करने से लाभ मिलता है|
  7. गुलकंद का सेवन करने से आँखां के लिये बहुत अच्छा है। इसस आँखां की रोशनी बढती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

0
Amrutam Basket
Your cart is empty.
X